Home विदर्भ यवतमाल हत्या मामले में 6 गिरफ्तार

हत्या मामले में 6 गिरफ्तार

20
0
SHARE

यवतमाल. 30 वर्षीय युवक की हत्या कर लाश को जलाकर सबूत मिटाने के लिए 6 आरोपियों ने मिलकर उसका शव तालाब में फेंक दिया था. यह घटना लाडखेड पुलिस थाना अंतर्गत बोदबोडन गांव के भाटीन तालाब के पास घटी थी. इस मामले में रामदास शिंदे को कब्जे में लेकर पूछताछ करने पर उसने बताया कि, 15 मार्च 2019 को मेरे खेत पडोस के खेत में रहनेवाले पुरुषोत्तम बथरु ठोंबरे और उसके 2 बेटे रमेश पुरुषोत्तम ठोंबरे, उमेश पुरुषोत्तम ठोंबरे तथा चचरे पोता मंगेश उर्फ बाल्या अगलधरे, किसान शंकराव उमाटे और खुद रामदास श्रीराम शिंदे सभी ने मिलकर धनराज मेश्राम को चाकू और लोहे के रॉड से प्रहार से हत्या की है. पुलिस ने सभी 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

6 माह पूर्व ही जेल से आया था बाहर
12 मई 2019 को पुलिस मुखबिर द्वारा प्राप्त गुप्त जानकारी मिली की लाडखेड पुलिस थाना क्षेत्र में ग्राम ईचोरी निवासी धनराज हरिभाऊ मेश्राम निवासी यवतमाल यह ईचारा गांव में रामदास शिंदे के खेत रहता था. 15 मार्च 2019 को रामदास शिंदे और खेत पडोस में रहनेवाले पुरुषोत्तम बथरु ठोंबरे और उसके दो बेटे रमेश पुरुषोत्तम ठोंबरे, उमेश पुरुषोत्तम ठोंबरे तथा चचेरा पोता मंगेश उर्फ बाल्या अगलधरे, किसन शंकरराव उमाटे व रामदाव श्रीराम शिंदे ( निवासी ईचारा) ने मिलकर हत्या कर शव भाटीन तालाब में फेंका है. मामले की अधिक जानकारी निकालने पर पता चला कि मृतक धनराज हरिभाऊ मेश्राम 6 माह पूर्व यवतमाल के जेल से रिलिज हुआ है.

जुर्म किया कबूल

इस हत्या के पीछे का कारण पूछने पर आरोपियों ने बताया कि मृतक धनराज मेश्राम आरोपी पुरुषोत्तम ठोंबरे की बेटी की गांव में बदनामी करता था. जिससे आरोपी ने क्रोधित होकर धनराज मेश्राम की हत्या की. पश्चात शव की शिनाख्त न हों और संदेह न हों, इसलिए सभी आरोपियों ने मिलकर धनराज के शव को जलाकर घटनास्थल से दूर ले जाकर भाटीन तालाब में फेंक दिया. इस मामले की पूरी जानकारी मिलने के पश्चात 13 मई की सुबह 5 बजे आरोपियों को कब्जे में लेकर हत्या मामले में कडी पूछताछ करने पर आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल किया. हत्या मामले के सभी आरोपियों को जांच के लिए लाडखेड पुलिस थाने के हवाले किया गया.

इस कार्रवाई को पुलिस अधक्षिक एम. राजकुमार, अप्पर पुलिस अधीक्षक अमरसिंह जाधव, स्थानीय अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक प्रदीप सिरस्कर के मार्गदर्शन में एन्टी गैंग सेल के पुलिस उपनिरीक्षक संतोष मनवर, सहायक फौजदार ऋषि ठाकुर, पुलिस हेड कॉन्स्टेबल संजय दुबे, गणेश देवतले, योगेश गटलेवार, अमोल चौधरी, किरण श्रीरामे, जयंत शेंडे, राजकुमार कांबले ने अंजाम दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here