Home देश महाराष्ट्र राज ठाकरे का ऐलान, चुनावों में मोदी-अमित शाह की जोड़ी को हारने...

राज ठाकरे का ऐलान, चुनावों में मोदी-अमित शाह की जोड़ी को हारने का काम करे कार्यकर्ता

20
0
SHARE
  • मुंबई में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राज ने कहा कि उनकी लड़ाई किसी पार्टी विशेष के खिलाफ नहीं है
  • राज ठाकरे ने कहा, मोदी और शाह की जोड़ी को राष्ट्रीय राजनीति के पटल से हटाना जरूरी है

मुंबई. लोकसभा 2019 में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने चुनाव में हिस्सा नहीं लेने का ऐलान कर दिया है। इसक बावजूद राज ठाकरे ने चुनावों में प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का विरोध करने का ऐलान किया है। मुंबई में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राज ने कहा कि उनकी लड़ाई किसी पार्टी विशेष के खिलाफ नहीं बल्कि मोदी-शाह की जोड़ी के खिलाफ है।

 राज ठाकरे का निर्देश, कार्यकर्ता इस बात का ध्यान रखें कि कोई भी बाहरी रेलवे की परीक्षा में शामिल न हो सके

विधानसभा की तैयारी में जुटे कार्यकर्ता

राज ठाकरे ने कहा कि उनकी प्रचार सभाओं का एक ही एजेंडा होगा कि मोदी-शाह को हटाना है, तो उनके उम्मीदवारों को वोट मत दो। राज ठाकरे ने कहा, “मोदी और शाह की जोड़ी को राष्ट्रीय राजनीति के पटल से हटाना जरूरी है। इसके देश के सभी नेताओं को एक साथ आना जरूरी है, यह बात कहने वाला पहला व्यक्ति मैं था।”
उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कहा कि मोदी के विरोध में होने वो प्रचार का फायदा जिसको लेना है, लेने दो, लेकिन तुम लोग विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुट जाओ।
एनसीपी से नहीं मांगी कोई सीट
राज ठाकरे के कार्यकर्ताओं से कहा, “उन्होंने कभी खुद होकर कांग्रेस-राकांपा से न तो गठबंधन की बात की बात की और ना ही सीटों की। अजित पवार और अशोक चव्हाण दोनों ही खुद आकर उनसे मिले।

फडणवीस को जवाब
मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज ठाकरे को ‘बारामती का पोपट’ कहा था, इसके जवाब में राज ठाकरे ने फडणवीस को ‘हवा भरा गुब्बारा’ कहा।

भाजपाइयों को लूट लो
राज ठाकरे ने कहा,”आगामी चुनाव में भाजपा के लोग तुम्हारे पास आएं, नोटों से भरी थैलियां लाएं, तो उनसे उनकी थैलियां लूट लो। उन्हें लूटने में कुछ गलत नहीं है, क्योंकि भाजपा ने देश को लूटा है।”

मूल मुद्दे से भटकाने के लिए उठाया चौकीदार का मुद्दा 
राज ठाकरे ने कहा,”मूल मुद्दों और समस्याओं से जनता का ध्यान हटाने और भ्रम फैलाने के लिए चौकीदार का मुद्दा उठाया है। यह अभियान इसलिए चलाया गया ताकि जनता सवाल न पूछे।

किसानों की आत्महत्या का मुद्दा उठाया 
आगे बढ़ते हुए राज ठाकरे ने महाराष्ट्र में किसानों की आत्महत्या के मुद्दे को भी उठाया उन्होंने कहा कि जिन आत्महत्या किसानों की बात मोदी सरकार या नरेंद्र मोदी अपने चुनावी भाषणों में करते हैं उस मोदी सरकार ने अपने 5 साल के शासन काल में किसानों की सुध तक नहीं ली 2015 से 2019 के बीच केवल महाराष्ट्र में 14000 किसानों ने आत्महत्या की। तो कुल मिलाकर जो इस समय मोदी सरकार या मोदी के मंत्री या जो भी चुनावी प्रचार कर रहे हैं वह सिर्फ और सिर्फ लोकसभा चुनाव में जनता और मतदाताओं को लुभाने का प्रयास किया जा रहा है राज ठाकरे ने खुले तौर पर बीजेपी का विरोध किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here