Home विदर्भ भंडारा अधर में है मोहाड़ी की पानी आपूर्ति योजना

अधर में है मोहाड़ी की पानी आपूर्ति योजना

72
0
SHARE

भंडारा मोहाड़ी. मोहाड़ी नगर पंचायत द्वारा शहर को पर्याप्त पानी आपूर्ति करने के उद्देश्य से 20 करोड़ रु. की नई पानी आपूर्ति योजना का प्रस्ताव सरकार की ओर प्रस्तुत किया गया था. किंतु अभी तक उसे प्रशासकीय मंजूरी नहीं मिली. यह प्रस्ताव नगरविकास मंत्रालय में धुल खा रहा है. नगराध्यक्ष के साथ कुछ नगरसेवक मंत्रालय में भी जाकर आए किंतु उन्हें सफलता नहीं आई. मोहाड़ीवासियों के पीने के पानी की समस्या का निराकरण करने के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने प्रयास करने की आवश्यकता है. फिलहाल की स्थिति में मोहाड़ी शहर को कालबाह्य हुए 47 वर्ष पुराने नल योजना द्वारा पानी आपूर्ति शुरू होने से पर्याप्त पानी मिलना मुश्किल हुआ है. 2 दिनों के पश्चात नल को पानी आता है. वह भी पर्याप्त प्रमाण में नहीं मिलता है ऐसी नागरिकों की शिकायत है.

शहर के अधिकतर कुएं सूखे
शहर के अधिकतम कुएं सूखने से नागरिकों को शहर के बाहर से कुओं से पानी लाना पड रहा है. मोहाड़ी की पानी आपूर्ति योजना मोहगांव समीप के सुर नदी पर कार्यान्वित है. सुर नदी सूखने से पानी आपूर्ति करनेवाले कुओं में पानी नहीं. मई महिने के धूप की तीव्रता को ध्यान में लेते हुए पानी किल्लत अधिक तीव्र होने की आशंका निर्माण हुई है. तुमसर तथा भंडारा के नल योजना को सरकार ने हरी झंडी दिखायी. किंतु मोहाड़ी की योजना वैसे ही पडी होने से मोहाड़ीवासियों पर अन्याय क्यो ऐसा सवाल स्थानीय नागरिक उपस्थित करने लगे है.

अपने खर्च से बनाया बोरवेल
सरकार की ओर से शुरू नल योजना के लिए मदद नहीं मिलने से एवं शहर के पानी की किल्लत को ध्यान में लेते हुए स्वयं के खर्च से बोरवेल करने की नौबत आयी है. खोडगांव पानी आपूर्ति योजना पर नगरपंचायत उपाध्यक्ष सुनील गिरेपुंजे, नगरसेवक प्रदीप वाडीभस्मे एवं गणेश निमजे ने स्वयं के खर्च से बोरवेल खोदकर इस पर पंप लगाया. इस कारण फिलहाल 2 दिनों के पश्चात पानी देना संभव हुआ है. सार्वजनिक निर्माणकाम विभाग द्वारा मोहगांव पानी आपूर्ति योजना के तहत एक बोरवेल खोदी गयी. उपाध्यक्ष सुनील गिरेपुंजे ने स्वयं के खेती के सबमर्सिबल पंप लाकर पानी आपूर्ति के बोरवेल में अस्थायी स्वरूप में लगाया. इस कारण मोहाड़ी में 2 दिनों के पश्चात पानी देना संभव होने की बात उपाध्यक्ष ने कही.

पेंच का छोड़ें पानी : नगराध्यक्ष
नगराध्यक्ष गीता बोकडे ने बताया कि नई पानी आपूर्ति योजना को प्रशासकीय मंजूरी दिलाने के लिए प्रयास शुरू है. पानी किल्लत का सामना करने के लिए सुर नदी में पेंच प्रकल्प का पानी छोडा जाए ऐसी मांग की गयी है. सुर नदी पर करीब 20 से 25 पानी आपूर्ति योजना होने से पेंच का पानी छोड़ने पर सभी को लाभ होगा. नल शुरू करने के दौरान डेढ़ घंटे पानी की आपूर्ति बंद रखने की भी अपील की गई है.

लावेसर में नई जलापूर्ति योजना
20 करोड़ की नई पानी आपूर्ति योजना के प्रस्ताव अनुसार नल योजना के मुख्य कुएं वैनगंगा नदी पात्र के लावेसर में खोदे जाने की जानकारी है. गोसीखुर्द प्रकल्प का बैकवाटर लावेसर तक रहने से भविष्य में पानी किल्लत नहीं होगी. यह उसके पीछे का लक्ष्य है. इस योजना की जलवाहिनी लावेसर, कोथुर्णा, रोहणा, दहेगांव मार्ग से मोहाड़ी को लायी जाएगी. यह योजना में एक मुख्य टंकी एवं 3 नई टंकियां तथा जलशुद्धिकरण केंद्र तैयार किए जाएगी. शहर में नई जलवितरण वाहिनी भी डाली जाएगी एवं नल को मीटर भी लगाने का प्रयोजन यह प्रस्ताव में है. इस नई योजना की वजह से मोहाड़ीवासियों को पर्याप्त पानी आपूर्ति होने की अपेक्षा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here