Home विदर्भ गोंदिया पिता पुत्र को सजा

पिता पुत्र को सजा

63
0
SHARE

 हत्या के प्रयास का मामला

भंडारा (का). शौचालय निर्माणकार्य को लेकर हुए विवाद में पति-पत्नी को जान से मारने का प्रयास करनेवाले पिता पुत्र को अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश आर.पी. पांडे के न्यायालय ने 5 वर्ष की कैद तथा 10-10 हजार रु. जुर्माने की सजा सुनाई है. जुर्माना नहीं भरने पर 6 महीने की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी. आरोपियों में तुमसर तहसील के कर्कापुर निवासी फुलचंद आगासे एवं ज्ञानेश्वर आगासे का समावेश है. उल्लेखनीय है कि सिहोरा पुलिस थाना के तहत आनेवाले कर्कापुर निवासी गोपीचंद आगासे एवं उनकी पत्नी अपने घर में शौचालय का निर्माण करा रहे थे. इसी दौरान 24 अप्रैल को सुबह 9.30 बजे शौचालय निर्माण कार्य की लिए खुदाई करते वक्त मिट्टी फेंकने की बात को लेकर फुलचंद आगासे एवं ज्ञानेश्वर आगासे के साथ विवाद हुआ.

शौचालय निर्माण को लेकर हुआ था विवाद

विवाद के दौरान आरोपियों ने हाथ में लोहे का फावडा एवं लकड़ा लेकर हमला बोला और पति-पत्नी को जख्मी किया. इसमें अजय आगासे जख्मी हो गया था. इस प्रकरण में जान से मारने का प्रयास करने की शिकायत पुलिस स्टेशन में दी गयी. तत्कालीन पुलिस निरीक्षक नागेश जायले ने आरोपियों को 30 अप्रैल को गिरफ्तार किया. अभय आगासे के बयान पर पुलिस ने सबूत इकठ्ठा कर सत्र न्यायालय में आरोप पत्र दर्ज किया गया. उक्त प्रकरण की सुनवाई अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश आर.पी. पांडे के न्यायालय में चली. गुनाह में सरकारी पक्ष एड. दुर्गा तलमले ने रखा. गवाहों का परीक्षण किया गया. 16 मार्च को पुख्ता सबूत के आधार पर फुलचंद आगासे एवं ज्ञानेश्वर आगासे पर आरोप सिद्ध होने के बाद उन्हें 5 वर्ष की कैद की सजा सुनायी. गुनाह में सहायक पुलिस निरीक्षक विनोद बानबले के मार्गदर्शन में पुलिस हवालदार सहादेवे बिनझाडे ने पैरवी अधिकारी के रूप में कार्य देखा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here