Home विदर्भ गोंदिया जिले में 10.75 लाख मतदाता

जिले में 10.75 लाख मतदाता

5
0
SHARE

लोकसभा चुनाव के लिए जिला प्रशासन सज्ज : डा. बलकवडे

गोंदिया (का). लोकसभा चुनाव की आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है. भंडारा -गोंदिया लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए 11 अप्रैल को मतदान होगा. गोंदिया जिले में 10 लाख 75,936 वोटर्स मतदान करेंगे. इसके लिए 1,281 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे. लोकसभा चुनाव के लिए जिला प्रशासन पूर्णत: सज्ज है. यह जानकारी जिला सहायक चुनाव निर्णय अधिकारी व जिलाधीश डा. कादंबरी बलकवडे ने दी. इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक विनिता साहू व जिप के सीईओ डा. राजा दयानिधी प्रमुखता से उपस्थित थे.

जिले में 4 विस क्षेत्र का समावेश

गोंदिया जिले में 4 विधानसभा क्षेत्र है, जिसमें 63 अर्जुनी मोरगांव विधानसभा क्षेत्र में 1 लाख 26,294 पुरुष व 1 लाख 23,964 महिला सहित कुल 2 लाख 50, 259 मतदाता है. 64-तिरोडा विधानसभा क्षेत्र में 1 लाख 24,591 पुरुष व 1 लाख 26, 598 महिला सहित कुल 2 लाख 51,189 मतदाता है, 65 गोंदिया विधानसभा क्षेत्र में 1 लाख 53,420 पुरुष व 1 लाख 59,171 महिला सहित कुल 3 लाख 12 हजार 591 मतदाता है वहीं 66 आमगांव विधानसभा क्षेत्र में 1 लाख 31 हजार 410 पुरुष व 1 लाख 30 हजार 487 महिला सहित कुल 2 लाख 61 हजार 897 मतदाता है. जिले में 5 लाख 35 हजार 715 पुरुष तथा 5 लाख 40 हजार 220 महिला मतदाता व अन्य 1 सहित 10 लाख 75 हजार 939 मतदाताओं की संख्या है. इसके लिए 1 हजार 281 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे. डा. बलकवडे ने यह भी बताया कि अर्जुनी मोरगांव विधानसभा क्षेत्र में 316, तिरोडा 295, गोंदिया 360 व आमगांव विधानसभा क्षेत्र में 310 मतदान केंद्रो का समावेश है. राज्य में 4 चरणों में होने वाले चुनाव में प्रथम चरण 11 अप्रैल को भंडारा-गोंदिया व गडचिरोली लोकसभा क्षेत्र का चुनाव होगा. इस चुनाव में कानून व सुव्यवस्था का प्रश्न निर्माण न हो. इसके लिए पुलिस प्रशासन तैयार है. चुनाव में कोई अनुचित घटना नहीं होगी. इस पर पूरा ध्यान केंद्रीत किया जाएगा.

मतदान केंद्रों पर विशेष सुविधा

जिले के सभी मतदान केंद्रों पर पीने के पानी की व्यवस्था की जाएंगी, ग्रीष्मऋतु के दिन होने से मतदान केंद्रों पर लंबी लाइन वाले स्थानों पर शेड की सुविधा, अपंगों के लिए व्हीलचेयर या वाहनों की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी. 1 जनवरी को प्रकाशित की गई मतदाता सूची के अनुसार जिले में 10 लाख 75,936 मतदाता है लेकिन जिनके नाम छूट गए है उन्हें मतदान का अवसर उपलब्ध हैं. इसके लिए जिलाधीश कार्यालय ने 22 व 23 फरवरी को तथा 2 व 3 मार्च को मतदाता पंजीयन के लिए विशेष अभियान क्रियान्वित किया था. इस दौरान अनेक लोगों ने आवेदन किया है. जिससे मतदाताओं की संख्या में और वृध्दि होगी. संवेदनशील क्षेत्रों की नहीं दी जानकारी लोकसभा चुनाव के लिए मतदान केंद्रों के स्थान निर्धारित किए गए है लेकिन इसमें कितने संवेदनशील, अतिसंवेदनशील हैं, इसकी जानकारी नहीं दी गई. इतना ही नहीं नक्सलग्रस्त क्षेत्र के लिए मतदान का समय भी नहीं बताया गया है.

EVM व VV पैड मशीन सुरक्षित

जिले में लोकसभा चुनाव के लिए प्रयुक्त की जाने वाली ईवीएम व वीवीपैड मशीनों की जांच के बाद उन्हें जयस्तंभ चौक परिसर में स्थित नए प्रशासकीय भवन में कडी सुरक्षा में रखा गया है. इसकी निगरानी के लिए जिला पुलिस मुख्यालय से विशेष गार्ड की नियुक्ति की गई है. जो हर क्षण निगरानी रखे हुए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here