Home शहर समाचार नागपुर रेलवे भर्ती में भारी धांधली का आरोप

रेलवे भर्ती में भारी धांधली का आरोप

12
0
SHARE

नागपुर. हाल ही में रेलवे बोर्ड द्वारा वर्ग ग्रुप डी के तहत भर्ती परीक्षा का आनलाइन परिणाम घोषित किया गया. परिणाम में कई प्रकार की गड़बड़ियां बताकर युवा आघाड़ी, बहुजन रिपब्लिकन युवा मोर्चा तथा विभिन्न युवा संगठनों ने धांधली का आरोप लगाकर संविधान चौक पर धरना प्रदर्शन किया. आप युवा आघाड़ी के विदर्भ संयोजक पीयूष आकरे ने कहा कि रेलवे बोर्ड की ओर से ग्रुप डी के विभिन्न पदों के लिए पिछले वर्ष भर्ती का विज्ञापन दिया था. इसके बाद करीब 1.80 करोड़ बेरोजगारों ने परीक्षा दी.

आकरे ने कहा कि परीक्षा का पेपर कुल 100 अंकों का ही था लेकिन कई परीक्षार्थियों को 100 में 106, 111, 120 अंक दिये गए. यहां तक तक कि यह आंकड़ा 148 अंकों से भी अधिक तक गया. भला यह कैसे संभव है. साफ है कि भर्ती परीक्षा के परिणाम में भारी धांधली की गई है. करोड़ों परीक्षार्थियों ने रेलवे बोर्ड की कार्यप्रणाली पर हैरत जताई.

दोबारा जारी किया जाये रिजल्ट
आकरे ने मांग की कि यह बेरोजगारों के जीवन मरण का प्रश्न है. ऐसे में बोर्ड द्वारा दोबारा सही ढंग से परीक्षा परिणाम घोषित करना चाहिए. उभरी तकनीकी गड़बड़ियों के चलते परीक्षा में धांधली का संदेह गहरा गया है. जानकारी होने के बावजूद रेलवे बोर्ड ने परिणाम में कोई सुधार या बदलाव नहीं किया. उन्होंने कहा कि रेलवे भर्ती बोर्ड ने 95,000 रिक्त पदों के लिए यह परीक्षा आयोजित की थी. इसमें ग्रुप डी के कुल 62,902 पद शामिल हैं. इतना ही नहीं, जिन परीक्षार्थियों को 100 में से 60, 65, 70, 71 और 72 अंक मिले हैं, उन्हें फेल दिखाया जा रहा है, जबकि जिन्हें 38, 40, 42 और 45 से भी कम अंक मिले हैं, उन्हें उत्तीर्ण किया गया है. ऐसे में रात दिन कड़ी मेहनत करके अधिक अंक लाने वाले परीक्षार्थी नौकरी से वंचित रह जायेंगे.

भ्रष्टाचार की बू
आकरे ने कहा कि रेलवे में भ्रष्टाचार किसी से छुपा नहीं है. हर वर्ष भ्रष्टाचार संबंधी सबसे अधिक शिकायतें और मामले रेलवे में ही मिलते हैं. ऐसे में इतने अधिक पदों की भर्ती में भ्रष्टाचार से इंकार नहीं किया जा सकता. वहीं, रिजल्ट में हुई धांधली से यह संदेह अधिक पक्का हो जाता है. इसी के विरोध में भारी संख्या में आप युवा आघाड़ी, बहुजन रिपब्लिकन युवा मोर्चा सहित शहर के विविध छात्र व युवा संगठनों ने धरना प्रदर्शन किया. इस दौरान हालात बिगड़ते देख शहर पुलिस ने कुछ आंदोलनकारियों को ऐहतियात के तौर पर हिरासत में भी लिया लेकिन बाद में उन्हें छोड़ दिया गया. आकरे ने सरकार को चेताया कि यदि रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस मामले में उचित कार्रवाई नहीं की तो बड़ा आंदोलन किया जायेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here