Home विदर्भ यवतमाल महाराष्ट्र में फिर बोले पीएम मोदी, जवानों के बलिदान को व्यर्थ नहीं...

महाराष्ट्र में फिर बोले पीएम मोदी, जवानों के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने दिया जाएगा

66
0
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज महाराष्ट्र के यवतमाल और धुले जिले का दौरे पर हैं. जहां उन्होंने कई परियोजनाओं की शुरुआत की.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज महाराष्ट्र के यवतमाल और धुले जिले का दौरे पर हैं. जहां उन्होंने कई परियोजनाओं की शुरुआत की. विदर्भ के यवतमाल में प्रधानमंत्री, आदिवासी छात्रों के लिए एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय का उद्घाटन किया. इसके अलाव प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनाए गये घरों की चाभियां कुछ लाभार्थियों को सौंपी. इस दौरान उन्होंने एक जनसभा को भी संबोधित किया. पीएम मोदी ने कहा कि देश तरक्की के पीछे कई बलिदानों का योगदान है. उन्होंने कहा कि मैं जानता हूं कि हम सभी किस गहरी वेदना से गुजर रहे हैं. पुलवामा में जो हुआ, उसको लेकर आपके आक्रोश को मैं समझ रहा हूं. यहां महाराष्ट्र के 2 वीर सपूतों ने पुलवामा में अपने प्राणों की आहूति दी है. पीएम मोदी ने कहा कि इन शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा, आतंकी संगठनों ने, आतंक के सरपरस्तों ने जो गुनाह किया है, वो चाहे जितना छिपने की कोशिश करें, उन्हें सज़ा जरूर दी जाएगी. उन्होंने बताया कि सैनिकों में और विशेषकर CRPF में जो गुस्सा है, वो भी देश समझ रहा है, इसलिए सुरक्षाबलों को खूली छूट दी गई है.

पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों को दिल्ली एयरपोर्ट पर पीएम मोदी, राहुल गांधी ने नम आंखों से दी श्रद्धांजलि, 

 

पीएम मोदी ने कहा कि देश की सुरक्षा के साथ ही देश की समृद्धि के लिए भी हमारी सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है. इसलिए विकास की पंचधारा यानि बच्चों को पढ़ाई, युवाओं को कमाई, बुजुर्गों को दवाई, किसान को सिंचाई और जन-जन की सुनवाई पर बल दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि थोड़ी देर पहले सड़क से जुड़े करीब 500 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास किया गया है, इसके अलावा पुणे- अजनी-पुणे हमसफर एक्सप्रेस को भी हरी झंडी दिखाई गई है. ये ट्रेन दौंड, मनमाड, भुसावल और बडनेरा होते हुए जाएगी. इससे इन सभी जगहों के लोगों को बहुत सुविधा होने वाली है.

 

यवतमाल के साढ़े 14 हज़ार से अधिक गरीब परिवारों ने आज अपने नए घर में प्रवेश भी किया है.केंद्र सरकार ने 2022 तक हर बेघर को पक्का घर देने का लक्ष्य रखा है और सरकार तेज़ी से अपने लक्ष्य की तरफ बढ़ रही है. अब तक देश के गांव और शहरों में 1.5 करोड़ गरीबों के घर बनाए जा चुके हैं. उन्होंने कहा कि मुझे याद है कि पिछली बार जब मैं यहां आया था, तो शेतकरी समाज से लंबा संवाद किया था. आज ये जानकारी देना चाहता हूं कि हाल के बजट में शेतकरी समाज के साथ-साथ, जो हमारे घुमंतु समाज के लोग हैं, हमारे श्रमिक हैं, इन सभी के लिए बड़ी योजनाओं का ऐलान किया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here