Home शहर समाचार नागपुर बिल्डर विजय डांगरे पर धोखाधड़ी का मामला

बिल्डर विजय डांगरे पर धोखाधड़ी का मामला

5
0
SHARE

नागपुर. हमेशा से जमीन के विवादों में चर्चा में रहे बिल्डर विजय तुलसीराम डांगरे (55) के खिलाफ सक्करदरा पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है. डांगरे ने दूसरे की जमीन खुद की बताकर कई लोगों के साथ प्लाट का सौदा कर लाखों रुपये ले लिए. पैसे देने के बावजूद जमीन नहीं मिलने पर पीड़ित लोगों ने पुलिस से शिकायत की. सक्करदरा पुलिस ने रामवाड़ी, नई शुक्रवारी निवासी रामू बाबूराव वानखेड़े (66) नामक वृद्ध की शिकायत पर मामला दर्ज किया है. डांगरे का शिकार केवल वानखेड़े नहीं हुए. उनके अलावा भी 3 लोगों ने पुलिस से शिकायत की है.

जानकारी के अनुसार डांगरे महाराजा बिल्डर के संचालक है. डांगरे ने चिखली खुर्द में स्थित आरक्षित जमीन का व्यवहार मूल मालिक से किया. जमीन पर से आरक्षण हटाकर लेआउट बनाने की तैयारी दर्शाई और पावर अटर्नी ले ली. वर्ष 2006 में पावर आफ अटर्नी के आधार पर डांगरे ने जमीन पर लेआउट बनाकर कई लोगों से सौदा किया. वानखेड़े के अलावा अन्य 3 लोगों से 44.25 लाख रुपये ले लिए. पैसे देने के बावजूद लोगों को उनकी जमीन की रजिस्ट्री नहीं करवाई. परेशान होकर पीड़ितों ने अपने पैसे वापस मांगने शुरू किए. डांगरे ने पैसे लौटाने की बजाए वानखेड़े को जान से मारने की धमकी दी.

आखिर मामले की शिकायत पुलिस से की गई. पुलिस ने डांगरे के खिलाफ धोखाधड़ी और जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज किया है. इसके पहले वर्ष 2015 में डांगरे के खिलाफ जमीन के विवाद में सरकारी अधिवक्ता को जान से मारने की धमकी देकर 10 लाख रुपये मांगने का मामला दर्ज हो चुका है. सक्करदरा चौक पर अवैध तरीके से अपने महाराजा बिल्डर का कार्यालय के निर्माण करने का मामला भी काफी गर्माया था. डांगरे स्टेट वॉलीबॉल एसोसिएशन के अध्यक्ष भी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here