Home विदर्भ चंद्रपुर वेकोलि की जमीन अतिक्रमित कर मकान बना बेचने का गोरखधंधा शुरू

वेकोलि की जमीन अतिक्रमित कर मकान बना बेचने का गोरखधंधा शुरू

5
0
SHARE

दुर्गापुर,वे पंचायत से नल, बिजली के लिए अनापत्ति प्रमाणपत्र हासिल कर उस पर मकान का निर्माणकार्य कर लाखों रुपए कीमत में बेचने का गोरखधंधा वेकोलि दुर्गापुर परिसर में जारी है. अब वेकोलि अपने अधिकार की जगह का नापजोख कर हजारों का व्यर्थ खर्च कर रही है.वेकोलि दुर्गापुर की जमीन पर गरीब व्यक्ति झोपड़ी बनाकर रहता है तो वह समझ में आता है. किंतु अब ग्राम पंचायत अपने खर्च से वेकोलि की जमीन पर लाखों की लागत से सड़क और शौचालय का निर्माणकार्य करा रही है.दुर्गापुर के वार्ड क्रं. 1,2 और 3 में कई ऐसे निवासी है जिन्होंने हजारों वर्ग फुट नजुल की जमीन पर अवैध कब्जा कर रखा है. किंतु ग्रापं दुर्गापुर उसे खाली कराने की बजाय वेकोलि के अधिकार वाली जमीन पर अनेकों काम कर चुकी और आगे भी करने वाली है.शक्तिनगर गेट के पास वेकोलि की जमीन पर कुछ लोगों ने कब्जा कर रखा है. कुछ लोग यह कहकर कब्जा करने के प्रयास में लग गए है कि उनके पूर्वजों को जो जमीन के बदले मुआवजा दिया गया वह कम था.30 से 35 वर्षो के पूर्व वेकोलि ने किसानों की जमीन अधिग्रहित कर जमीन के एवज में मुआवजा और जमीन के अनुपात में सदस्यों को नौकरी दी थी. वेकोलि ने उस समय आवश्यकता से अधिक जमीन अधिग्रहित कर ली थी आज भी दुर्गापुर बस्ती की ओर पचासों एकड़ जमीन खाली पड़ी है. इस जमीन पर अनेकों ने अतिक्रमण कर रखा है और जमीन की कीमत लाखों की है.

वेकोलि की कुंभकर्णी नींद टूटी

वेकोलि के संबंधित विभाग को अब जाकर कुंभकर्णी नींद टूटी है तथा अब कई लाख रुपए कीमत की अपनी जमीन को सरकारी नपाई पर खर्च कर रहे है. अपनी ही जमीन को अतिक्रमण से मुक्त कराने तैयारी शुरु की है. वेकोलि अपनी जमीन खाली करा लेती है तो ग्रापं द्वारा सड़क और शौचालय का खर्च निरर्थक होगा. जबकि यह निर्माणकार्य ग्रापं नागरिकों से वसूल किए टैक्स की राशि से किया है जो फिजूल होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here