Home विदर्भ चंद्रपुर चंद्रपुर-गड़चिरोली का विजन डाक्यूमेंट तैयार करें

चंद्रपुर-गड़चिरोली का विजन डाक्यूमेंट तैयार करें

23
0
SHARE

चंद्रपुर. केंद्रीय महामार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि चंद्रपुर और गड़चिरोली जिलों के विकास के लिए विजन डाक्यूमेंट तैयार किया जाना चाहिए. केंद्र की सभी योजनाएं इन दोनों जिलों में लागू की जाएगी. गडकरी ने रास्ते, पुल, बैरेजेस और अलग-अलग विकास कार्यों के लिए 8,500 करोड़ रुपये का पैकेज चंद्रपुर जिले के लिए घोषित किया. बल्लारपुर के बामणी में रास्ते के भूमिपूजन कार्यक्रम में गडकरी ने यह बात कही. रविवार को दिन भर केंद्रीय राज्यमंत्री हंसराज अहीर, राज्य के वित्तमंत्री व जिले के पालकमंत्री सुधीर मुनगंटीवार तथा चंद्रपुर, यवतमाल, गड़चिरोली जिले के विधायकों के विभिन्न प्रस्तावों को मंजूरी देते हुए शाम को ली गई सभा में 8,500 करोड़ रुपये के विकास कार्यों के पैकेज की घोषणा की गई. इसमें राष्ट्रीय महामार्ग, सार्वजनिक निर्माण कार्य विभाग अंतर्गत रास्तों का डामरीकरण, फोरलेन, वर्धा, वैनगंगा और उमा नदी पर पुल का समावेश है. साथ इस क्षेत्र में जानेवाले रेलवे क्रासिंग पर भूमिगत रास्तों को भी शामिल किया गया है.

कई प्रस्तावों को मिली मंजूरी
जिले के पालकलमंत्री मुनगंटीवार ने इस समय जिले की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए कुछ बैरेज प्रस्तावित किये हैं. इन बैरेजों के लिए आवश्यक तकनीकी अल्पदर में उपलब्ध करने की घोषणा भी गडकरी ने अपने संबोधन में की. इसके चलते सुबह 5,500 करोड़ रुपये के रास्ते के विकास कार्यों वाला पैकेज शाम को चंद्रपुर और गड़चिरोली जिले के महत्वपूर्ण जलसंपदा विभाग का प्रस्ताव मंजूर कर 8,500 करोड़ रुपये हो गया. इन सभी नए प्रस्तावों को केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने तत्वत: मंजूरी दी. इससे पूर्व भी मंजूरी मिले अनेक प्रकल्प शुरू हुए हैं. कुछ प्रस्ताव मंजूर करने का आश्वासन दिया. कार्यक्रम में केंद्री राज्यमंत्री हंसराज अहीर, राज्य के वित्तमंत्री सुधीर मुनगंटीवार, विधायक नाना शामकुले, वन विकास महामंडल के अध्यक्ष चंदनसिंह चंदेल, विधायक एड. संजय धोटे, विधायक कीर्तिकुमार भांगड़िया, देवराव होली, जिला परिषद के अध्यक्ष देवराव भोंगले, महापौर अंजलि घोटेकर, बल्लारपुर के नगराध्यक्ष हरीश शर्मा, जिलाधिकारी डा. कुणाल खेमनार, उपमहापौर अनिल फुलझेले, सभापति ब्रिजभूषण पाझारे, पूर्व विधायक जैनुद्दीन जव्हेरी, राहुल पावड़े, प्रमोद कडू, रेणुका दूधे आदि उपस्थित थे.

2 वर्षों में पूर्ण होगा गोसीखुर्द
केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि गोसीखुर्द प्रकल्प अगले 2 वर्षों में पूर्ण करना उनका लक्ष्य है. इस प्रकल्प के लिए निधि की कमी नहीं होने दी जाएगी. गोसीखुर्द में चंद्रपुर जिले में 2,500 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई होगी. इस जिले में ढाई हजार हेक्टेयर भूमि का सिंचाई शुरू होने के उपरांत धान फसल के उत्पादन में वृद्धि होगी. इस क्षेत्र में किसानों के जीवन में आमूलचूल बदलाव होगा. बांस से तेल निकालने का प्रयोग भी अंतिम स्वरूप में है. विशिष्ट जाति के बांस रोपण के लिए इस क्षेत्र के किसानों से तैयार रहने की अपील उन्होंने की. इस समय अहीर और मुनगंटीवार ने इस क्षेत्र में शुरू किए गए विकास कार्यों की समीक्षा की. सीपेट जैसे प्रकल्प अहीर के कारण चंद्रपुर में शुरू होने पर उन्होंने बताया. राज्य के वित्तमंत्री के रूप में मुनगंटीवार ने अच्छा कार्य करने की बात भी उन्होंने कही. पालकमंत्री मुनगंटीवार ने आमडी, धानोरा, चिचाला आदि स्थानों के बैरेज के लिए आधुनिक तकनीकी की मदद करने की मांग उन्होंने की. केन्द्रीय राज्यमंत्री अहीर ने भी संबोधित किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here