Home विदर्भ वर्धा किसान रबी फसल की तैयारी में जुटा

किसान रबी फसल की तैयारी में जुटा

11
0
SHARE

अनेक संकटों पर मात कर किसान फसल लेने तैयार

मारेगांव (सं). इस वर्ष अच्छा कृषि उत्पादन होगा. इस आशा के धुमिल होने के बाद तहसील के किसान फिर से एक बार रबी फसल लेने के लिए तैयारी में जुटे हुए है, बता दे कि तहसील के किसानों को इस बार अनेक प्राकृतिक संकटों का सामना करना पड़ा, जिससे खरीफ फसल में किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है, अनेक प्राकृतिक, प्रशासनिक और आर्थिक संकटों के बाद अब किसान फिर से अपने परिवार के उदरनिर्वाह के लिए दुबारा रबी फसल लेने की तैयारी में जुट गए है. बता दे कि तहसील में सोयाबीन, कपास के उत्पादन पर हुए विपरित परिणाम से किसानों को नुकसान उठाना पड़ा, लेकिन हिम्मत न हारते हुए रबी फसल सत्र में चना, गेहूं, मूंगफली की बुआई के लिए इन दिनों तहसील के किसान खेतों में जुटे हुए है. तहसील में खरीफ सत्र में 2 हजार 650 हेक्टेयर में कपास और 850 हेक्टेयर क्षेत्र में सोयाबीन बोयी गयी थी, लेकिन प्राकृतिक आपदा और सरकार की किसानों के लिए अनियमित नीति के कारण इस सत्र में किसान कृषि उपज के लिहाज से संकट में आए है. रबी बुआई की तैयारी के लिए जुट चुके किसानों को अब भी आर्थिक संकटों का सामना करना पड़ रहा है, कारण इस वर्ष नाफेड की सोयाबीन खरीदी अब भी शुरू नहीं हो पायी है, जिससे किसानों के हाथों में पैसा न ही है, तो दूसरी ओर निजी कपास संकलन केंद्रों में किसानों को समर्थन मूल्य नहीं मिलने से नुकसान उठाना पड़ रहा है.

दाम न मिलने से कपास खरीदी केंद्रों पर छायी विरानी

इस वर्ष कपास को खेती के खर्च की तुलना में दाम नहीं मिल पा रहे है, तो दूसरी ओर व्यापारी दीपावली का त्योहार देखते हुए कपास के दाम गिराकर खरीदी करते नजर आए. कृषि उपज में कमी और दाम न मिलने से किसानों की दिवाली इस बार भी अंधेरे में गुजर गई. इसके बाद सरकारी खरीदी न होने से बाजारों में विरानी छायी हुई है. जिससे रबी फसल सत्र में किसान भले ही परेशान लेकिन उम्मीद में खेतों में जुटे हुए है.

किसानों में छायी चिंता

बता दे कि नवरगांव बांध में इस बार जलस्तर बढ़ने से रबी फसल में दो पैसे हाथ में आएंगे. ऐसी आस किसानों को है, लेकिन तहसील का नवरगांव बांध रबी फसल सत्र में किसानों के लिए वरदान साबित होगा या फिर प्रशासन की अनदेखी के कारण ऐन समय पर संकटों का सामना करना पड़ेगा, इसे लेकर भी रबी फसल लेनेवाले किसानों में चिंता छायी हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here