Home विदर्भ अकोला किसानों को आर्थिक मदद का इंतजार

किसानों को आर्थिक मदद का इंतजार

7
0
SHARE

अकोला. जिले की 5 तहसीलों में अकाल की परिस्थिति है. प्राप्त जानकारी के अनुसार करीब 3 लाख 17 हजार से अधिक हेक्टेयर क्षेत्र में फसलों का नुकसान हुआ है. जिसके कारण 1 लाख 94 हजार से अधिक किसान अकाल की चपेट में हैं. इस वर्ष जिले में समय पर बारिश न होने के कारण जमीन में नमी की कमी इसी तरह वापसी की बारिश न होने के कारण खरीफ फसलों के उत्पादन में काफी कमी आयी है. किसानों को सरकार से आर्थिक मदद का इंतजार है.

5 तहसीलें अकालग्रस्तों की सूची में
सरकार के निर्णय के अनुसार महाराष्ट्र की 151 तहसीलों में अकाल की परिस्थिति घोषित की गयी है जिसमें अकोला जिले की अकोला, बालापुर, बार्शीटाकली, तेल्हारा तथा मूर्तिजापुर इन 5 तहसीलों का समावेश है. इन 5 तहसीलों में 3 लाख 17 हजार 284 हेक्टेयर जमीन पर खरीफ फसलों का नुकसान हुआ है. अकोला तहसील में 62,727 बिना सिंचाई के क्षेत्र वाले किसान, 3,003 सिंचाई वाले किसान, बार्शिटाकली 35,553 बिना सिंचाई वाले, 5093 सिंचाई वाले किसान, तेल्हारा 14,705 बिना सिंचाई, 12,785 सिंचाई वाले, बालापुर 20,308 बिना सिंचाई वाले, 1920 सिंचाई वाले, मुर्तिजापुर 38,680 बिना सिंचाईवाले किसान इस तरह बिना सिंचाई वाले 17,19,73 तथा सिंचाई वाले 22,801 किसानों का समावेश है. अकोला तहसील में 86,623 हेक्टेयर, बार्शिटाकली 51,562, तेल्हारा 53,036, बालापुर 60,591, मूर्तिजापुर 65,472 सहित जिले में कुल 31,72,84 हेक्टेयर क्षेत्र में फसलों का नुकसान होने की जानकारी मिली है.

विभिन्न उपाययोजनाएं घोषित
इन क्षेत्रों के लिए सरकार ने विविध उपाय योजनाएं घोषित की है. लेकिन अभी तक किसानों के लिए किसी प्रकार की आर्थिक मदद की घोषणा नहीं की गयी है जिसके कारण किसानों की हालत दिन प्रतिदिन खराब हो रही है. सभी का ध्यान इस ओर लगा हुआ है कि कब सरकार द्वारा आर्थिक मदद की घोषणा की जाती है और कब किसानों को आर्थिक मदद प्रदान की जाती है. जिले के जनप्रतिनिधियों का काम है कि वे सरकार पर दबाव बनाकर किसानों को आर्थिक मदद दिलवायें जिससे जिले के किसानों को

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here