Home विदर्भ यवतमाल अनियमित जलापूर्ति पर भडकी सांसद गवली

अनियमित जलापूर्ति पर भडकी सांसद गवली

41
0
SHARE

यवतमाल. शहर को जलापूर्ति करनेवाले निलोणा, चापडोह बांध पूरी तरह भरने के बावजूद जीवन प्राधिकरण द्वारा शहर को 7 से 10 दिनों के अंतराल में एक बार जलापूर्ति की जा रही है. यह जल भी मटमैला और दूषित होने से शहरवासियों का स्वास्थ्य खतरे में आ चुका है. इस दूषित और अनियमित जलापूर्ति के विरोध में सोमवार को शिवसेना द्वारा महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण के गोधनी मार्ग स्थित कार्यालय पर मोर्चा निकालकर दस्तक दी गई. इसकी अगुवाई सांसद भावना गवली ने की. इस समय प्राधिकरण के लचर कामकाज और दूषित जलापूर्ति पर सांसद गवली प्राधिकरण के कार्यकारी अभियंता पर भड़क उठी, साथ ही अधिकारियों इस मुद्दे पर जमकर फटकार भी लगाई.

शिवसेना के मोर्चे द्वारा दिपावली के दौरान किसी भी हालात में शहरवासियों को लगातार जलापूर्ति की मांग की गई. शिवसेना पदाधिकारियों के संतप्त रवैये को देखते हुए प्राधिकरण के अधिकारियों ने शहर में सुचारू और स्वच्छ जलापूर्ति करने का भरोसा दिलाया. इसी बीच कार्यकारी अभियंता अजय बेले ने शिवसेना सांसद और प्रतिनिधिमंडल से चर्चा में कहा कि, जलापूर्ति के लिए तीसरा पम्प शुरू किया जाएगा. इससे कुछ पैमाने पर पानी पिला लेकिन पिने लायक होगा. इस समय मजीप्रा द्वारा ठेका पद्धति पर रिटायर्ड कर्मियों की पदभर्ती और युवा अधिकारियों की भर्ती के लिए प्रयास करने का भरोसा सांसद गवली ने दिया. इसी बीच शहर में सुचारू जलापूर्ति न होने पर शिवसेना द्वारा तीव्र आंदोलन की चेतावनी दी गई.

इस मोर्चे में शिवसेना जिलाप्रमुख राजेंद्र गायकवाड़, यवतमाल विधानसभा संपर्कप्रमुख संतोष ढवले, निवासी उपजिलाप्रमुख प्रवीण पांडे, उपजिलाप्रमुख किशोर इंगले, उपजिलाप्रमुख दिगांबर म्हस्के, महिला आघाड़ी की लता चंदेल, तहसील प्रमुख संजय रंगे, विनोद काकडे, वसंता जाधव, निलेश मैत्रे, यवतमाल पंस के उपसभापति गजानन पाटील, शहर प्रमुख पिंटू बांगर, एसटी कामगार सेनेचे गणेश गावंडे, गिरीष व्यास अतुल गुलाणे, गुणवंत ठोकल, सुजीत मुनगिनवार, राजू कोहरे, सुरेश ढोकणे, दीपक सुकलकर, युवा सेना के अमोल धोपेकर, डा. प्रसन्न रंगारी, चेतन सिरसाट, ऋषि इलमे, प्रसाद अवसरे, गोलू जोमदे आदि शामिल हुए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here