Home विदर्भ वर्धा वेन्डर की गला रेतकर हत्या

वेन्डर की गला रेतकर हत्या

93
0
SHARE

वर्धा. ट्रेन में चाय बेचनेवाले वेन्डर की गला रेतकर निर्मम हत्या कर दी गई. उक्त सनसनीखेज वारदात शुक्रवार को आनंदनगर परिसर में सामने आते ही परिसर में खलबली मच गई है. मृतक का नाम मिलिंद सुभाष मेश्राम (51) बताया गया है. मिलिंद यह ट्रेनों में चाय बेचता था़ उसे एक पुत्री हैं, जो केसरीमल कन्या विद्यालय में अध्ययनरत है. पहली पत्नी की मौत के बाद उसने दूसरी शादी की़ पुत्री के जन्म के बाद दूसरी पत्नी की भी मौत हो गई. तब से पिता-पुत्री चितोडा रेलवे गेट, आनंदनगर परिसर में रह रहे थे. पुत्री अक्सर अपने रिश्तेदार अथवा पड़ोसी के यहां रहती थी़ घटना के दिन पुत्री पड़ोसी के यहां सोने के लिए गई थी़ ऐसे में मिलिंद घर में अकेला ही था. मध्यरात्रि अज्ञात हमलावर ने मकान में प्रवेश कर नुकिले शस्त्र से गले पर वार उसे मौत के घाट उतार दिया. दूसरे दिन सुबह मिलिंद की पुत्री घर लौटी तो दरवाजे पर खून के छिंटे दिखाई दिए. इधर-उधर देखने पर पिता की हत्या होने की बात उसके ध्यान में आयी़ खबर फैलते ही परिसर के नागरिकों ने घटनास्थल पर भीड़ की. सूचना मिलते ही शहर थानेदार चंद्रकांत मदने, पीएसआई बोरखेडे, पीएसआई पपीन रामटेके, पीएसआई नंदकिशोर खेकाडे, पुलिस कर्मी विनोद सानप, गोपाल बावणकर, निखिल वासेकर, प्रभाकर नटाले, राजू वाघ व श्रीकांत खडसे घटनास्थल पर पहुंचे़ पंचनामा कर शव सेफ्टी टैंक से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए जिला सामान्य अस्पताल भेज दिया गया़ घटनास्थल को अपर पुलिस अधीक्षक निखिल पिंगले, उपविभागीय पुलिस अधिकारी दिनेशकुमार कोल्हे ने भी भेंट दी.

सबूत मिटाने की हुई कोशिश
पुलिस सूत्रों के अनुसार हमलावरों ने मिलिंद की हत्या कर सबूत मिटाने के उद्देश्य से मकान के भीतर की सामग्री अपनी जगह पर लगायी़ पश्चात मिलिंद का शव मकान से सटे सेफ्टी टैंक में फेंक दिया था. साथ ही मकान के भीतर खून के धब्बे साफ किए गए.

शरीर पर पाए गए 31 वार
पुलिस को पंचनामा के समय कुछ संदेहास्पद चीजें बरामद हुई़ परिसर में अज्ञात व्यक्ति की चप्पल मिली़ साथ ही मृतक के गले व छाती पर नुकिले शस्त्र के करीब 31 वार नजर आए.

पहुंची फारेन्सिक लैब टीम व डाग स्काड
सूचना मिलते ही फारेन्सिक लैब टीम व डाग स्काड घटनास्थल पर पहुंचा. श्वान ने परिसर में कुछ दूरी तक पुलिस को दिशा दिखाई. साथ ही फारेन्सिक टीम के सदस्यों ने मकान तथा घटनास्थल पर बरामद हुई चीजों के नमूने व खून के नमूने प्राप्त किए.

2 संदिग्धों से हुई पूछताछ
समाचार लिखे जाने तक शहर पुलिस ने संदेह के आधार पर 2 संदिग्धों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिए जाने की जानकारी है. इस वारदात को नजदीकी व्यक्ति ने ही अंजाम देने की जानकारी पुलिस सूत्रों से मिली है. साथ ही वारदात के बाद परिसर में तरह-तरह की चर्चाएं चल रही थी़ इसके आधार पर पुलिस छानबीन कर रही है.

गांजा तस्करी में हुआ था गिरफ्तार
सूत्रों के अनुसार मृतक मिलिंद यह गांजा तस्करी मामले में विशाखापट्टनम पुलिस के हत्थे चढ़ा था. इस मामले में उसे 18 माह की जेल भी हुई थी. पश्चात वह वर्धा पहुंचा व उसने अपराधिक काम छोड़कर ट्रेन में चाय बेचने का कामकाज शुरू किया था.

दो दिन पूर्व पहुंचा था शहर थाने
बताया जाता है कि, मिलिंद यह किसी रिश्तेदार के साथ दो दिन पूर्व शहर थाने पहुंचा था. परिसर निवासी एक युवक के खिलाफ उसने थाने में शिकायत की थी़ किंतु किसी कारणवश पुलिस ने उसकी शिकायत दर्ज नहीं की. पश्चात आज उक्त वारदात सामने आयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here